प्रशांत भूषण अवमानना मामला : बुर्जुआ जनवादी सीमाओं के पार

ए. प्रिया // 12 जनवरी 2018 को सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठतम जजों द्वारा “जनतंत्र खतरे में है” की चेतावनी के साथ किए गए ऐतिहासिक प्रेस कांफ्रेंस के बाद, अब सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ स्वतः संज्ञान में लिया गया अवमानना का मुकदमा भारतीय न्याय व्यवस्था की असलियत... Continue Reading →

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑